ज्येष्ठ पूर्णिमा Date: शनिवार, 22 जून 2024

ज्येष्ठ पूर्णिमा पूर्णिमा का दिन है जो हिंदू चंद्र कैलेंडर के अनुसार ज्येष्ठ (मई-जून) के महीने में आता है। यह हिंदू धर्म में बहुत महत्व रखता है और भारत के विभिन्न क्षेत्रों में विभिन्न तरीकों से मनाया जाता है।

हिंदू पौराणिक कथाओं में, ज्येष्ठ पूर्णिमा कई महत्वपूर्ण घटनाओं और देवताओं से जुड़ी हुई है। यह वह दिन माना जाता है जब भगवान शिव जम्मू और कश्मीर में स्थित प्रसिद्ध अमरनाथ गुफा में लिंगम (शिव का प्रतिष्ठित प्रतिनिधित्व) के रूप में प्रकट हुए थे। भक्त इस समय के दौरान इस पवित्र स्थल की एक चुनौतीपूर्ण तीर्थ यात्रा करते हैं।

ज्येष्ठ पूर्णिमा से जुड़ी एक और महत्वपूर्ण घटना 16 वीं शताब्दी के एक श्रद्धेय राजपूत योद्धा राजा महाराणा प्रताप की जयंती है। उन्हें उनकी वीरता और मुगल शासन के खिलाफ प्रतिरोध के लिए याद किया जाता है।

इसके अलावा, ज्येष्ठ पूर्णिमा भगवान विष्णु के भक्तों के लिए धार्मिक और सांस्कृतिक महत्व रखती है। यह वह दिन माना जाता है जब भगवान विष्णु ने, भगवान वामन के रूप में अपने अवतार में, राजा बलि को आशीर्वाद दिया और उन्हें पाताललोक में उनकी स्थिति में बहाल कर दिया।

ज्येष्ठ पूर्णिमा पर, भक्त अक्सर व्रत रखते हैं, मंदिरों में जाते हैं और अपने चुने हुए देवताओं की पूजा करते हैं। वे नदियों में पवित्र डुबकी लगाने, धर्मार्थ कार्य करने और सत्यनारायण पूजा जैसे विशेष समारोह करने जैसे अनुष्ठान भी कर सकते हैं।

कुल मिलाकर, ज्येष्ठ पूर्णिमा हिंदू धर्म में एक महत्वपूर्ण अवसर है, जो विभिन्न किंवदंतियों और परंपराओं से जुड़ा है, और यह भक्तों के लिए आध्यात्मिक और सांस्कृतिक महत्व रखता है।

Comments

आगामी उपवास और त्यौहार

महावीर जन्म कल्याणक

रविवार, 21 अप्रैल 2024

महावीर जन्म कल्याणक
हनुमान जयंती

मंगलवार, 23 अप्रैल 2024

हनुमान जयंती
चैत्र पूर्णिमा

मंगलवार, 23 अप्रैल 2024

चैत्र पूर्णिमा
संकष्टी चतुर्थी

शनिवार, 27 अप्रैल 2024

संकष्टी चतुर्थी
वरुथिनी एकादशी

शनिवार, 04 मई 2024

वरुथिनी एकादशी
प्रदोष व्रत

रविवार, 05 मई 2024

प्रदोष व्रत