अजहूँ चेति अचेत

अजहूँ चेति अचेत

अजहूँ चेति अचेतसबै दिन गए विषय के हेत।तीनौं पन ऐसैं हीं खोए, केश भए सिर सेत॥आँखिनि अंध, स्त्रवन नहिं सुनियत, थाके चरन समेत।गंगा-जल तजि पियत कूप-जल, हरि-तजि पूजत प्रेत॥मन-बच-क्रम जौ भजै स्याम कौं, चारि पदारथ...

बोलो जय सिया रामा

बोलो जय सिया रामा

प्रेम से बोलो हनुमाना बोलो जय सिया रामा…….. केसर के तिलक लगाए मेरे राम जी,लाल सिन्दूर हनुमाना बोलो जय सिया रामा,प्रेम से बोलो हनुमाना बोलो जय सिया रामा……. ऊँचे सिंघासन पे बैठे मेरे राम जी,चरनो...

राहों में फूल बिछाऊँगी

राहों में फूल बिछाऊँगी

राहों में फूल बिछाऊँगी, जब राम मेरे घर आएंगे,जब राम मेरे घर आएंगे, जब राम मेरे घर आएंगे,राहों में फूल बिछाऊँगी, जब राम मेरे घर आएंगे….. मैं चुन चुन कलियाँ लाऊंगी, हांथो से हार बनाऊँगी,मैं...

हरिनाम रटे है दुनिया ये सारी

हरिनाम रटे है दुनिया ये सारी

मंगल भवन अमंगल हारीद्रवहु सुदशरथ अजिरी बिहारीपुरुषों में उत्तम राम मेरे,मेरे अवधबिहारीहरिनाम रटे है दुनिया ये सारी….. कौशल्यानंदन राम तुम्ही माँ जानकी के स्वामी हो,दशरथ के प्रियप्राण तुम्ही,तुम्ही अंतर्यामी हो,कोई राम रटे कोई श्याम रटे,कण...

फिर केसरिया लहराएगा

फिर केसरिया लहराएगा

राम नाम का बजेगा डंका,जय श्री राम जय श्री राम,राम नाम का बजेगा डंका,इसमें नहीं है कोई शंका,राम में जग रम जाएगा,रामराज फिर आएगा केसरिया लहराएगा,दुनिया का हर प्राणी एक दिन राम की महिमा जाएगा,रामराज...

आये राम मेरे

आये राम मेरे

आये हैं राम मेरे राम राम,आये हैं राम मेरे राम राम,आये हैं राम मेरे राम राम,आये हैं राम मेरे राम राम……… कितनी बरस रहे,दूर वो घर से,जिनके दर्श को,नैना तरसे,देश ये सारा,कहने को उनका,पर ना...

बोलो जय-जय सिया राम

बोलो जय-जय सिया राम

दो अक्षर का प्यारा नाम-"बोलो जय-जय सिया राम",इसके नाम में इतनी शक्ति-मिल जाती भूंतों से मुक्ति,श्रद्धा लगाकै करो गुणगान-बोलो जय-जय सिया राम,अक्षर का प्यारा नाम-"बोलो जय-जय सिया राम…….. इसके नाम से पत्थर तिरगे-ऋषि मुनि सब...

भाभी माँगे देवर लक्ष्मण की तरह

भाभी माँगे देवर लक्ष्मण की तरह

माँ की ममता माँ से मांगे,मुझे पुत्र मिले श्रवण की तरह,भाभी मांगे देवर लक्ष्मण की तरह……… गुरु बिन ज्ञान कहाँ से लाऊ, गुरु से बढ़कर कोई नही,भव सागर से तार दे सबको, शक्ति जगत में...

राम जानकी मंदिर

राम जानकी मंदिर

मौसम दीन न दीन हितय, तुम समान रघुवीर।अस विचार रघुवंश मणि, हरहू विसम् भव पीर।। कामहि नारी पियारी जिमी, लोभहि प्रिय जिमि दाम।तुम रघुनाथ निरंत रहो, प्रिय लगहु मोहि राम।। प्रनत पाल रघुवंश मणि, करुणा...

राम बिना कोई नहीं अपना

राम बिना कोई नहीं अपना

राम बिना जगत में,कोई नहीं है अपना रे,सच केवल राम है,बाकी जग झूठा सपना रे,राजीव मुझसे रहें राम राजी,ऐसा कर्म मुझे करना है,जहाँ धर्म है सत्य है,मुझे उसी डगर पे चलना है,राम बिना जगत में,कोई...

प्रभु राम का बनके दीवाना

प्रभु राम का बनके दीवाना

प्रभु राम का बनके दीवाना छमा छम नाचे वीर हनुमाना,के के के राम सिया राम जपता है,मस्त मगन रहता है…… रामजी के सिवा नहीं सूझे कोई दूजा नाम,रामजी की धुन में रहता है ये आठोंधाम,चुटकी...

आगामी उपवास और त्यौहार

संकष्टी चतुर्थी

बुधवार, 24 जुलाई 2024

संकष्टी चतुर्थी
कामिका एकादशी

बुधवार, 31 जुलाई 2024

कामिका एकादशी
मासिक शिवरात्रि

शुक्रवार, 02 अगस्त 2024

मासिक शिवरात्रि
हरियाली तीज

बुधवार, 07 अगस्त 2024

हरियाली तीज
नाग पंचमी

शुक्रवार, 09 अगस्त 2024

नाग पंचमी
कल्कि जयंती

शनिवार, 10 अगस्त 2024

कल्कि जयंती

संग्रह