आओ गजानन जी हम तुम्हे मनाते हैं…..

सोने का लोटा है गंगाजल पानी है,
आओ गजानन जी हम चरण धूलाते हैं,
आओ गजानन जी हम तुम्हे मनाते हैं…..

चंदन चौकी है बिछौना मलमल का है,
आओ गजानन जी सिंहासन सजाते हैं,
आओ गजानन जी हम तुम्हे मनाते हैं…..

हाथ कटोरी है केसर रोली है,
आओ गजानन जी हम तिलक लगाते हैं,
आओ गजानन जी हम तुम्हे मनाते हैं…..

हाथ सांवरिया है दूब घास माला है,
आओ गजानन जी हम हार पहनाते हैं,
आओ गजानन जी हम तुम्हे मनाते हैं…..

हाथ जनेऊ है पटका धोती है,
आओ गजानन जी हम तुम्हें पहनाते हैं,
आओ गजानन जी हम तुम्हे मनाते हैं…..

हाथ में मेवा है मोतीचूर लड्डू है,
आओ गजानन जी हम भोग लगाते हैं,
आओ गजानन जी हम तुम्हे मनाते हैं…..

Comments

संबंधित लेख

आगामी उपवास और त्यौहार

संकष्टी चतुर्थी

मंगलवार, 25 जून 2024

संकष्टी चतुर्थी
योगिनी एकादशी

मंगलवार, 02 जुलाई 2024

योगिनी एकादशी
मासिक शिवरात्रि

गुरूवार, 04 जुलाई 2024

मासिक शिवरात्रि
जगन्नाथ रथ यात्रा

रविवार, 07 जुलाई 2024

जगन्नाथ रथ यात्रा
गौरी व्रत

गुरूवार, 11 जुलाई 2024

गौरी व्रत
देवशयनी एकादशी

बुधवार, 17 जुलाई 2024

देवशयनी एकादशी

संग्रह