गणपति बप्पा तुम हो निराले,
विघ्न बाधा सबकी हरने वाले,
मूषक की प्यारी तुम्हारी सवारी,
लड्दुओ का भोग लगे देव मतवाले,
विघ्न बाधा सबकी हरने वाले।

जिस घर पे रहती कृपा तुम्हारी,
उस घर के संकट सब तुमने है टाले,
विघ्न बाधा सबकी हरने वाले।

रिद्धि सिद्धि के तुम हो दाता,
दीनो के हो दीन भक्तो के रखवाले,
विघ्न बाधा सबकी हरने वाले।

जो भी तुम्हारी शरण में आए,
भरते हो बप्पा उनके भंडारे,
विघ्न बाधा सबकी हरने वाले।

Comments

संबंधित लेख

आगामी उपवास और त्यौहार

संकष्टी चतुर्थी

मंगलवार, 25 जून 2024

संकष्टी चतुर्थी
योगिनी एकादशी

मंगलवार, 02 जुलाई 2024

योगिनी एकादशी
मासिक शिवरात्रि

गुरूवार, 04 जुलाई 2024

मासिक शिवरात्रि
जगन्नाथ रथ यात्रा

रविवार, 07 जुलाई 2024

जगन्नाथ रथ यात्रा
गौरी व्रत

गुरूवार, 11 जुलाई 2024

गौरी व्रत
देवशयनी एकादशी

बुधवार, 17 जुलाई 2024

देवशयनी एकादशी

संग्रह