हे गणराया
तेरे शरण मैं आया,
तेरी महिमा अपार,
खुशीयो का त्योहार,
तुने हि दिया,
दुनिया को आकार,
हर तरफ तेरा जय जयकारा,
हे गणराया,
तेरे शरण मैं आया….

मेरे दिल मे तूही समाया,
तेरे दर पे बाप्पा मे आया,
इस जहां पे तेरी छाया,
तेरे आने से मैं मुस्कुराया,
आसमासे उचा तेरा साया देवा,
सबसे मिलने तू धरती पे आया देवा,
ये मौका ना आये दोबारा,
हे गणराया,
तेरे शरण मैं आया…..

तू ही दिन है तू ही सवेरा,
हर जगह बस नाम तेरा,
सुख से रोशन हुआ अँधेरा,
तेरे चरणों में मेरा बसेरा,
अब तुझी से शुरू,
तुझी पे खत्म,
तुझ पे अर्पण करू,
अपने सतो जनम,
सबने दिल से तुझको पुकारा,
हे गणराया,
तेरे शरण मैं आया…..

Comments

संबंधित लेख

आगामी उपवास और त्यौहार

संकष्टी चतुर्थी

मंगलवार, 25 जून 2024

संकष्टी चतुर्थी
योगिनी एकादशी

मंगलवार, 02 जुलाई 2024

योगिनी एकादशी
मासिक शिवरात्रि

गुरूवार, 04 जुलाई 2024

मासिक शिवरात्रि
जगन्नाथ रथ यात्रा

रविवार, 07 जुलाई 2024

जगन्नाथ रथ यात्रा
गौरी व्रत

गुरूवार, 11 जुलाई 2024

गौरी व्रत
देवशयनी एकादशी

बुधवार, 17 जुलाई 2024

देवशयनी एकादशी

संग्रह