वीरों में महावीर तुम्ही हो,
अजर अमर रणधीर तुम्ही हो,
ये दुनिया जानती है,
ये दुनिया जानती है,
जय बजरंगी, जय बजरंगी,
जय बजरंगी, जय बजरंगी…….

बचपन में सूरज खा डाला,
दूर हुआ जग से उजियारा,
इन्द्र ने तुझ पर वज्र चलाया,
सूरज को तुमसे छुड़वाया,
फिर देवो ने तुमको मनाया,
कोई तुमसे पार ना पाया,
बड़े बड़े विरो को पछाड़ा,
आसमान था तेरा अखाडा,
पवन वेग से जब तुम आए,
राहु शनि तुमसे घबराए,
मारुती नंदन केसरी नंदन,
मारुती नंदन केसरी नंदन,
संकट मोचन हो भय भंजन,
ये दुनिया जानती है,
ये दुनिया जानती है…….

रामचंद्र के काज बनाए,
दाएँ भुजा सब भक्त उबारे,
बाएँ भुजा सब दुष्ट संहारे,
लखन को शक्ति बाण लगा था,
राम थे व्याकुल दुःख का समां था,
जा धौलागिरी पर्वत लाए,
लाके संजीवन लखन बचाए,
पवन वेग से तुम थे भागे,
मन में थे श्री राम विराजे,
राम की जय जयकार लगाकर,
राम की जय जयकार लगाकर,
अक्षय को मारा पटक पटक कर,
ये दुनिया जानती है,
ये दुनिया जानती है……

सीना फाड़ दिखाने वाले,
राम नाम गुण गाने वाले,
बलबुद्धि के देने वाले,
भक्तो के हो तुम रखवाले,
भुत प्रेत तेरे नाम से भागे,
राम भगत में सबसे आगे,
‘केसर’ ‘लख्खा’ शीश झुकाते,
कर दो कृपा तो किस्मत जागे,
भक्त हो भक्त विधाता तुम हो,
बल बुद्धि के दाता हो तुम,
हो शिव शंकर के अवतारी,
हो शिव शंकर के अवतारी,
बालयति और हो ब्रम्हचारी,
ये दुनिया जानती है,
ये दुनिया जानती है……

Comments

संबंधित लेख

आगामी उपवास और त्यौहार

मोहिनी एकादशी

रविवार, 19 मई 2024

मोहिनी एकादशी
प्रदोष व्रत

रविवार, 19 मई 2024

प्रदोष व्रत
प्रदोष व्रत

सोमवार, 20 मई 2024

प्रदोष व्रत
नृसिंह जयंती

मंगलवार, 21 मई 2024

नृसिंह जयंती
वैशाखी पूर्णिमा

गुरूवार, 23 मई 2024

वैशाखी पूर्णिमा
बुद्ध पूर्णिमा

गुरूवार, 23 मई 2024

बुद्ध पूर्णिमा

संग्रह