माँ की ममता माँ से मांगे,
मुझे पुत्र मिले श्रवण की तरह,
भाभी मांगे देवर लक्ष्मण की तरह………

गुरु बिन ज्ञान कहाँ से लाऊ, गुरु से बढ़कर कोई नही,
भव सागर से तार दे सबको, शक्ति जगत में कोई नही,
गुरूजी मांगे मुझे शिष्य मिले, मुझे शिष्य मिले एकलव्य की तरह,
भाभी मांगे देवर लक्ष्मण की तरह…..

जब जब भीड़ पड़ी बहना पर दौडे दौडे आते है,
परम कृपा कर अपनों पर ये सबकी लाज बचाते है,
बहना मांगे मुझे भाई मिले बहना मांगे मुझे भाई मिले,
मुझे भाई मिले कृष्णा की तरह,

Comments

संबंधित लेख

आगामी उपवास और त्यौहार

नारद जयंती

शुक्रवार, 24 मई 2024

नारद जयंती
संकष्टी चतुर्थी

रविवार, 26 मई 2024

संकष्टी चतुर्थी
अपरा एकादशी

रविवार, 02 जून 2024

अपरा एकादशी
मासिक शिवरात्रि

मंगलवार, 04 जून 2024

मासिक शिवरात्रि
प्रदोष व्रत

मंगलवार, 04 जून 2024

प्रदोष व्रत
शनि जयंती

गुरूवार, 06 जून 2024

शनि जयंती

संग्रह