पाउबा के छाले तन को बुझाईला,
कठिन डगरिया भी पार होइज़ाला,
एक फुक गांजा पिया दे पॉवर चढ़ जाला हो,
भोले बाबा के कृपा से जल चढ़ जाला हो…..

बाबा के बूटी विशेष करेला मुड फ्रेश,
बहुत हरानी थकानी मिटा दे होज़ाला बड़ी रे,
भोले बाबा के कृपा से जल चढ़ जाला हो…..

ऐही बूटी में पॉवर बहुत ना देवघर के टाबर धरवेला,
रीना रे गाड़ी के बाबा दुवरि झटपट ई पहुचा देला,
भोले बाबा के कृपा से जल चढ़ जाला हो……

भोले बाबा के प्रसादी हटा जा भंगिया हमर फिर बाद हो,
हर सावन ज़य जयकार लागे उका रहेला बात हो,
भोले बाबा के कृपा से जल चढ़ जाला हो……

Comments

संबंधित लेख

आगामी उपवास और त्यौहार

मोहिनी एकादशी

रविवार, 19 मई 2024

मोहिनी एकादशी
प्रदोष व्रत

रविवार, 19 मई 2024

प्रदोष व्रत
प्रदोष व्रत

सोमवार, 20 मई 2024

प्रदोष व्रत
नृसिंह जयंती

मंगलवार, 21 मई 2024

नृसिंह जयंती
वैशाखी पूर्णिमा

गुरूवार, 23 मई 2024

वैशाखी पूर्णिमा
बुद्ध पूर्णिमा

गुरूवार, 23 मई 2024

बुद्ध पूर्णिमा

संग्रह