होली में गूँज रहा देखो रंगो का त्योहार,
हो भोले बाबा को रंगो, आज सब मिलकर के सारे……

हाथों में लाये है गुलाल मल के,
बाबा को रंग लगाओ मल के,
नंदी को संग में रंग लगाओ सब मिलके,
हो भोले, हो शंकर बाबा को रंगो, आज सब मिलकर के सारे……

रंग ऐसा रंगयो के छूटे ना,
भोले मिले है बड़े यतन से,
रंग लगा के फिर भंगिया भी पिलाना,
हो भोले, हो शंकर बाबा को रंगो, आज सब मिलकर के सारे……

कैलाश में होली की धूम मची है,
रंगो की एक दुनिया सजी है,
सब भक्त बाबा को रंग लगाए जाते है,
हो भोले, हो शंकर बाबा को रंगो, आज सब मिलकर के सारे……

Comments

संबंधित लेख

आगामी उपवास और त्यौहार

राम नवमी

बुधवार, 17 अप्रैल 2024

राम नवमी
कामदा एकादशी

शुक्रवार, 19 अप्रैल 2024

कामदा एकादशी
महावीर जन्म कल्याणक

रविवार, 21 अप्रैल 2024

महावीर जन्म कल्याणक
हनुमान जयंती

मंगलवार, 23 अप्रैल 2024

हनुमान जयंती
चैत्र पूर्णिमा

मंगलवार, 23 अप्रैल 2024

चैत्र पूर्णिमा
संकष्टी चतुर्थी

शनिवार, 27 अप्रैल 2024

संकष्टी चतुर्थी

संग्रह