तेरा दर्शन करके भोले हो गया मैं जोगिया,
तेरा दर्शन करके भोले हो गया मैं जोगिया,
अब शरण में ले लो बाबा,
अब शरण में ले लो भोले दुनिया है यह ढोंगिया……

मैं जो कीट पतंगा होता रहता तेरे साथ में,
मेरा जीवन कितना सुंदर रहता तेरे हाथ में,
ना भटकता ना तड़पता,
ना भटकता ना तड़पता माया के बाजार में,
तेरा दर्शन करके भोला हो गया मैं जोगिया…..

मानुस्का में जन्म भी पाकर ना समझा संसार को,
सब कुछ अपना समझ लिया है,
खो बैठा स्वाभिमान को,
जिसको अपना कहता है तू,
जिसको अपना कहता है तू वह धोखा दे जाएगा,
तेरा दर्शन करके भोले हो गया मैं तो जोगिया……

Comments

संबंधित लेख

आगामी उपवास और त्यौहार

राम नवमी

बुधवार, 17 अप्रैल 2024

राम नवमी
कामदा एकादशी

शुक्रवार, 19 अप्रैल 2024

कामदा एकादशी
महावीर जन्म कल्याणक

रविवार, 21 अप्रैल 2024

महावीर जन्म कल्याणक
हनुमान जयंती

मंगलवार, 23 अप्रैल 2024

हनुमान जयंती
चैत्र पूर्णिमा

मंगलवार, 23 अप्रैल 2024

चैत्र पूर्णिमा
संकष्टी चतुर्थी

शनिवार, 27 अप्रैल 2024

संकष्टी चतुर्थी

संग्रह