देवा देवा तेरे चरणों की पाऊं सेवा,
तेरे द्वारे भक्ति का पाऊं मेवा,
तुम स्वामी मेरे मैं हूं सेवक तेरा,
नित चरणो में ध्यान रहे मेरा,
देवा देवा तेरे चरणों की पाऊं सेवा…..

ह्रदय आसन पे तुम आओ प्रभु,
रिद्धि सिद्धि को संग लाओ प्रभु,
माता गौरा पिता भोले नाथ भी हो,
भ्राता कार्तिय सूत शुभ लाभ भी हो,
देवा देवा तेरे चरणों की पाऊं सेवा…..

एकदंत तुम्ही एक पूरण हो ब्रह्म,
दूजा ब्रह्म नहीं ये हटा दो भरम,
मेरी सांसों में तेरा ही वास रहे,
हे विनायक सजन तेरा दास कहे,
देवा देवा तेरे चरणों की पाऊं सेवा,
तेरे द्वारे भक्ति का पाऊं मेवा…..

Comments

संबंधित लेख

आगामी उपवास और त्यौहार

मोहिनी एकादशी

रविवार, 19 मई 2024

मोहिनी एकादशी
प्रदोष व्रत

रविवार, 19 मई 2024

प्रदोष व्रत
प्रदोष व्रत

सोमवार, 20 मई 2024

प्रदोष व्रत
नृसिंह जयंती

मंगलवार, 21 मई 2024

नृसिंह जयंती
वैशाखी पूर्णिमा

गुरूवार, 23 मई 2024

वैशाखी पूर्णिमा
बुद्ध पूर्णिमा

गुरूवार, 23 मई 2024

बुद्ध पूर्णिमा

संग्रह