गजानन आ जाओ एक बार,
सभा में तुम्हें बुलाते है….

सबसे पहले हो तेरी पूजा,
फिर काम बने दुजा,
हो तेरे दर्शन हो हर बार,
सभा में तुम्हें बुलाते है…..

देवो में देव निराला,
तू माँ गोरा का लाला,
तेरी महिमा अपरम्पार,
सभा में तुम्हें बुलाते है……

मैंने तेरा ध्यान लगाया,
तेरा रूप मेरे मन भाया,
करो ख़ुशियों की बौछार,
सभा में तुम्हें बुलाते है……

यो अमरहेड़ी त आव,
आनन्द तेरी महिमा गाव,
सबका करदो बेड़ा पर,
सभा में तुम्हें बुलाते है…..

Comments

संबंधित लेख

आगामी उपवास और त्यौहार

निर्जला एकादशी

मंगलवार, 18 जून 2024

निर्जला एकादशी
ज्येष्ठ पूर्णिमा

शनिवार, 22 जून 2024

ज्येष्ठ पूर्णिमा
संत कबीर दास जयंती

शनिवार, 22 जून 2024

संत कबीर दास जयंती
संकष्टी चतुर्थी

मंगलवार, 25 जून 2024

संकष्टी चतुर्थी
योगिनी एकादशी

मंगलवार, 02 जुलाई 2024

योगिनी एकादशी
मासिक शिवरात्रि

गुरूवार, 04 जुलाई 2024

मासिक शिवरात्रि

संग्रह