गजानन पूरण काज करो,
सफल हमारा ये आयोजन,
हे महाराज करो,
गजानन पूरण काज करो

विघ्न हरण मंगल के दाता,
प्रथम तुम्हारा सुमिरण,
ध्यान धरे गुणगान करे,
क्या धनवान क्या निर्धन,
पधारो सर पर हाथ धरो,
गजानन पूरण काज करो।।

पिता महाशिव भोले शंकर,
गौरी माँ के दुलारे,
रिद्धि सिद्धि अंग संग साजे,
शुभ शुभ चरण तुम्हारे,
गजानन जीवन तार करो ,
गजानन पूरण काज करो

पान सुपारी श्रीफल दूर्वा,
मोदक भर भर थाल,
लड्डुवन भर भर थाल,
रखियो अपने भक्तो की,
दीजो सुर और ताल,
जी मेरे अवगुण दोष हरो,
सफल हमारा ये आयोजन,
गजानन पूरण काज करो

Comments

संबंधित लेख

आगामी उपवास और त्यौहार

निर्जला एकादशी

मंगलवार, 18 जून 2024

निर्जला एकादशी
ज्येष्ठ पूर्णिमा

शनिवार, 22 जून 2024

ज्येष्ठ पूर्णिमा
संत कबीर दास जयंती

शनिवार, 22 जून 2024

संत कबीर दास जयंती
संकष्टी चतुर्थी

मंगलवार, 25 जून 2024

संकष्टी चतुर्थी
योगिनी एकादशी

मंगलवार, 02 जुलाई 2024

योगिनी एकादशी
मासिक शिवरात्रि

गुरूवार, 04 जुलाई 2024

मासिक शिवरात्रि

संग्रह