गजानंद पहले मैं तुमको मनाऊ,
तुमको मनाऊ देवा तुमको मनाऊ,
गजानंद पहले मैं तुमको मनाऊ।।

सोने की थाली में भोजन बनाया,
गजानंद पहले मैं तुमको खिलाऊ,
गजानंद पहले मैं तुमको मनाऊ।।

सोने के गड़वा में गंगाजल पानी,
गजानंद पहले मैं तुमको पिलाऊ,
गजानंद पहले मैं तुमको मनाऊ।।

लौंग और इलायची का बीड़ा लगाया,
गजानंद पहले मैं तुमको सजाऊ,
गजानंद पहले मैं तुमको मनाऊ।।

Comments

संबंधित लेख

आगामी उपवास और त्यौहार

महेश नवमी

शनिवार, 15 जून 2024

महेश नवमी
गंगा दशहरा

रविवार, 16 जून 2024

गंगा दशहरा
गायत्री जयंती

सोमवार, 17 जून 2024

गायत्री जयंती
निर्जला एकादशी

मंगलवार, 18 जून 2024

निर्जला एकादशी
ज्येष्ठ पूर्णिमा

शनिवार, 22 जून 2024

ज्येष्ठ पूर्णिमा
संत कबीर दास जयंती

शनिवार, 22 जून 2024

संत कबीर दास जयंती

संग्रह