करके सवारी मूषक गणपती जी आएंगे,
मेरे घर आकर देखो भाग्य जगायेंगे,
करके सवारी मूषक गणपती जी आएंगे।।

भोग लगाकर लड्डुओं का हम देखे राह तुम्हारी,
हर्षित मन से हम मिलकर के गाएंगे,
करके सवारी मूषक गणपती जी आएंगे।।

सब देवो में सबसे पहले देवा तुम्हे मनाये,
सुख करता दुःख हरता देवा इस जग में कहलाये,
खुशियों से झोली भरदी सबको बताएंगे,
करके सवारी मूषक गणपती जी आएंगे।।

पल में हरके विघ्नो को गणपती जी दिखलाये,
रिद्धि और सिद्धि के स्वामी गणपती जी कहलाये,
चरणों में इनके हम शीश झुकायेंगे,
करके सवारी मूषक गणपती जी आएंगे।।

Comments

संबंधित लेख

आगामी उपवास और त्यौहार

संकष्टी चतुर्थी

मंगलवार, 25 जून 2024

संकष्टी चतुर्थी
योगिनी एकादशी

मंगलवार, 02 जुलाई 2024

योगिनी एकादशी
मासिक शिवरात्रि

गुरूवार, 04 जुलाई 2024

मासिक शिवरात्रि
जगन्नाथ रथ यात्रा

रविवार, 07 जुलाई 2024

जगन्नाथ रथ यात्रा
गौरी व्रत

गुरूवार, 11 जुलाई 2024

गौरी व्रत
देवशयनी एकादशी

बुधवार, 17 जुलाई 2024

देवशयनी एकादशी

संग्रह