गणनायक गणराय गणपति,
रिद्धिपति, शिद्धिपति, धनपति, प्रजापति……

लम्बोदर पीताम्बर शोभित,
मुखमंडल पे तेज बिराजत,
स्तुति कीजै जो नरनारी,
धन वैभव सब देते गणपति,
गणनायक गणराय गणपति,
रिद्धिपति, शिद्धिपति, धनपति, प्रजापति……

ललाट पे विद्या धन भारी,
बाहुबल संग फरसाधरी,
मोदक का जिसने किया अर्पण,
प्रसन्न हो जाते है गणपति,
गणनायक गणराय गणपति,
रिद्धिपति, शिद्धिपति, धनपति, प्रजापति……

Comments

संबंधित लेख

आगामी उपवास और त्यौहार

राम नवमी

बुधवार, 17 अप्रैल 2024

राम नवमी
कामदा एकादशी

शुक्रवार, 19 अप्रैल 2024

कामदा एकादशी
महावीर जन्म कल्याणक

रविवार, 21 अप्रैल 2024

महावीर जन्म कल्याणक
हनुमान जयंती

मंगलवार, 23 अप्रैल 2024

हनुमान जयंती
चैत्र पूर्णिमा

मंगलवार, 23 अप्रैल 2024

चैत्र पूर्णिमा
संकष्टी चतुर्थी

शनिवार, 27 अप्रैल 2024

संकष्टी चतुर्थी

संग्रह