गणपती जी तुम्हारे चरणों में,
हम मिलकर शीश झुकाते है।।

तुम सबके कष्ट मिटाते हो,
गणपती जी तुम्हारे चरणों में,
हम मिलकर शीश झुकाते है।।

तुम सब पे दया बरसाते हो,
गणपती जी तुम्हारे चरणों में,
हम मिलकर शीश झुकाते है।।

तुम भक्तो के रखवाले हो,
गणपती जी तुम्हारे चरणों में,
हम मिलकर शीश झुकाते है।।

Comments

संबंधित लेख

आगामी उपवास और त्यौहार

गायत्री जयंती

सोमवार, 17 जून 2024

गायत्री जयंती
निर्जला एकादशी

मंगलवार, 18 जून 2024

निर्जला एकादशी
ज्येष्ठ पूर्णिमा

शनिवार, 22 जून 2024

ज्येष्ठ पूर्णिमा
संत कबीर दास जयंती

शनिवार, 22 जून 2024

संत कबीर दास जयंती
संकष्टी चतुर्थी

मंगलवार, 25 जून 2024

संकष्टी चतुर्थी
योगिनी एकादशी

मंगलवार, 02 जुलाई 2024

योगिनी एकादशी

संग्रह