गौरी लाल गणेश, तेरा गुणगान करूँ,
तुम हो प्रभु प्रथमेश तेरा गुणगान करूँ…..

मूषक वाहन नाम गजानन,
सबसे पहले तेरा हो पूजन,
मिट जाते सारे कलेश, तेरा गुणगान करूँ,
गौरी लाल गणेश, तेरा गुणगान करूँ……

शीश मुकुट रत्नों से चमके,
तन पर दिव्य पीताम्बरी दमके,
देता सुख का संदेश, तेरा गुणगान करूँ,
गौरी लाल गणेश, तेरा गुणगान करूँ……

ऋद्धि सिद्धि बुद्धि के दाता,
दीन दुखी के भाग्यविधाता,
शुभ मंगल सर्वेश, तेरा गुणगान करूँ,
गौरी लाल गणेश, तेरा गुणगान करूँ……

नारद सारद शीश नवाते,
साँझ सवेरे महिमा गाते,
ब्रह्मा विष्णु महेश, तेरा गुणगान करूँ,
गौरी लाल गणेश, तेरा गुणगान करूँ…..

सिद्धि विनायक गजमुख धारी,
तुम पर सारा जग बलिहारी,
अद्भुत देव गणेश, तेरा गुणगान करूँ,
गौरी लाल गणेश, तेरा गुणगान करूँ…..

Comments

संबंधित लेख

आगामी उपवास और त्यौहार

महावीर जन्म कल्याणक

रविवार, 21 अप्रैल 2024

महावीर जन्म कल्याणक
हनुमान जयंती

मंगलवार, 23 अप्रैल 2024

हनुमान जयंती
चैत्र पूर्णिमा

मंगलवार, 23 अप्रैल 2024

चैत्र पूर्णिमा
संकष्टी चतुर्थी

शनिवार, 27 अप्रैल 2024

संकष्टी चतुर्थी
वरुथिनी एकादशी

शनिवार, 04 मई 2024

वरुथिनी एकादशी
प्रदोष व्रत

रविवार, 05 मई 2024

प्रदोष व्रत

संग्रह