आज म्हारे आंगनिया में,
गौरी पुत्र आया जी,
गौरी पुत्र आया जी,
भक्ता रे मन रे भाया जी,
आज म्हारे आंगणिया में,
गौरी पुत्र आया जी।।

कमर तागड़ी पग पैजनिया,
हाथ झझरियों लाया जी,
नैना में काजलियो थारे,
माथे चांद मंडाया जी,
आज म्हारे आंगणिया में,
गौरी पुत्र आया जी।।

पहर जरी को झगलो चोटी,
रेशम फूल गुथाया जी,
ठुमक ठुमक पगां धरे हैं,
गणपति बोले तुतलाया जी,
आज म्हारे आंगणिया में,
गौरी पुत्र आया जी।।

Comments

संबंधित लेख

आगामी उपवास और त्यौहार

गायत्री जयंती

सोमवार, 17 जून 2024

गायत्री जयंती
निर्जला एकादशी

मंगलवार, 18 जून 2024

निर्जला एकादशी
ज्येष्ठ पूर्णिमा

शनिवार, 22 जून 2024

ज्येष्ठ पूर्णिमा
संत कबीर दास जयंती

शनिवार, 22 जून 2024

संत कबीर दास जयंती
संकष्टी चतुर्थी

मंगलवार, 25 जून 2024

संकष्टी चतुर्थी
योगिनी एकादशी

मंगलवार, 02 जुलाई 2024

योगिनी एकादशी

संग्रह