हे शुभकारी हे सुखदायक,
जग दाता जगदीश्वर तुम हो,
हे शुभकारी हे सुखदायक,
जग दाता जगदीश्वर तुम हो,
गौरी नंदन गणपती देवा,
गौरी नंदन गणपती देवा,
परम पिता परमेश्वर तुम हो,
हे शुभकारी हे सुखदायक……

जिसके मन में पीत तुम्हारी,
जिसके लब पर नाम तुम्हारा,
उसको तुमने राह दिखाई,
भव सागर से पार उतारा,
सिद्धिविनायक जय हो तुम्हारी ,
सिद्धिविनायक जय हो तुम्हारी ,
सबसे बड़ा ज्ञानेश्वर तुम हो,
हे शुभकारी हे सुखदायक,
जग दाता जगदीश्वर तुम हो ,
हे शुभकारी हे सुखदाता……

हे जग वंदन हे गणनायक,
सबके कष्ट मिटाओ तुम्ही,
बीच भवर में जिसकी नैय्या,
उसको पार लगाओ तुम ही,
मंगलमूर्ति भाग्यविधाता,
मंगलमूर्ति भाग्यविधाता,
जीवन के हर पथ पर तुम हो,
हे शुभकारी हे सुखदायक,
जग दाता जगदीश्वर तुम हो ,
हे शुभकारी हे सुखदाता……

क्या क्या गाऊ गुण में तुम्हारे,
सौ पुकार किये है तुमने,
चलते चलते उलझ गया हो,
तुमसे मुक्ति पायी उसने,
गंगा जैसा उज्वल निर्मल,
गंगा जैसा उज्वल निर्मल,
शीतलता का सागर तुम हो,
हे शुभकारी हे सुखदायक,
जग दाता जगदीश्वर तुम हो ,
हे शुभकारी हे सुखदाता……

Comments

संबंधित लेख

आगामी उपवास और त्यौहार

संकष्टी चतुर्थी

मंगलवार, 25 जून 2024

संकष्टी चतुर्थी
योगिनी एकादशी

मंगलवार, 02 जुलाई 2024

योगिनी एकादशी
मासिक शिवरात्रि

गुरूवार, 04 जुलाई 2024

मासिक शिवरात्रि
जगन्नाथ रथ यात्रा

रविवार, 07 जुलाई 2024

जगन्नाथ रथ यात्रा
गौरी व्रत

गुरूवार, 11 जुलाई 2024

गौरी व्रत
देवशयनी एकादशी

बुधवार, 17 जुलाई 2024

देवशयनी एकादशी

संग्रह