मेरी भक्ति मे रंग बरसाओ,
आओ आओ गजानन आओ….

मैं जल भर लोटा लाऊं,
चंदन चौकी पर बिठाऊ,
आकर के चरण धुलाओ, आओ आओ गजानन आओ,
मेरी भक्ति मे रंग बरसाओ…..

भोले शंकर के पुत्र गजानन,
मां की आंखों के तारे गजानन,
आके भक्तों के दिल में समाओ, आओ आओ गजानन आओ,
मेरी भक्ति मे रंग बरसाओ…..

रिद्धि सिद्धि को संग में लाना,
गोरा मैया को भूल ना जाना,
आने में देर ना लगाओ, आओ आओ गजानन आओ,
मेरी भक्ति मे रंग बरसाओ…..

हम सबके प्यारे गजानन,
सब देवों से न्यारे गजानन,
आके कीर्तन में रस बरसाओ, आओ आओ गजानन आओ,
मेरी भक्ति मे रंग बरसाओ…..

Comments

संबंधित लेख

आगामी उपवास और त्यौहार

महेश नवमी

शनिवार, 15 जून 2024

महेश नवमी
गंगा दशहरा

रविवार, 16 जून 2024

गंगा दशहरा
गायत्री जयंती

सोमवार, 17 जून 2024

गायत्री जयंती
निर्जला एकादशी

मंगलवार, 18 जून 2024

निर्जला एकादशी
ज्येष्ठ पूर्णिमा

शनिवार, 22 जून 2024

ज्येष्ठ पूर्णिमा
संत कबीर दास जयंती

शनिवार, 22 जून 2024

संत कबीर दास जयंती

संग्रह