राहों में फूल बिछाएगे गजानंद मेरे घर आएंगे….

गजानंद मेरे घर आएंगे ,
चंदन चौकी पर बैठाएंगे,
गंगाजल से चरण धुलाएंगे, गजानंद मेरे घर आएंगे….

गजानंद मेरे घर आएंगे,
हम सबके कारज कराएंगे,
माथे पर तिलक लगाएंगे, गजानंद मेरे घर आएंगे….

पाठ पितांबर कसरे की धोती,
मोतियों के हार पहनाएंगे, गजानंद मेरे घर आएंगे….

मोदक लाडू खीर चूरमा,
हम सब प्रसाद बनाएंगे,
रुचि रुचि भोग लगाएंगे, गजानंद मेरे घर आएंगे….

धूप दीप से करें आरती,
हम तेरी ज्योत जलाएगे,
कीर्तन कर शोभा बढ़ाएंगे, गजानंद मेरे घर आएंगे….

Comments

संबंधित लेख

आगामी उपवास और त्यौहार

महेश नवमी

शनिवार, 15 जून 2024

महेश नवमी
गंगा दशहरा

रविवार, 16 जून 2024

गंगा दशहरा
गायत्री जयंती

सोमवार, 17 जून 2024

गायत्री जयंती
निर्जला एकादशी

मंगलवार, 18 जून 2024

निर्जला एकादशी
ज्येष्ठ पूर्णिमा

शनिवार, 22 जून 2024

ज्येष्ठ पूर्णिमा
संत कबीर दास जयंती

शनिवार, 22 जून 2024

संत कबीर दास जयंती

संग्रह