विनती सुनो गणराजा आज मेरी महफिल में आ जाना
महफिल में आना मेरी महफिल में आना,
विनती सुनो गणराजा आज मेरी महफिल में आ जाना॥

रिद्धि सिद्धि के तुम हो दाता,
भक्त जनों के भाग्य विधाता,
शंकर के लाल गणराजा आज मेरी महफिल में आ जाना,
महफिल में आना मेरी महफिल में आना,
विनती सुनो गणराजा आज मेरी महफिल में आ जाना॥

माथे मुकुट गले मोतियन माला,
कानों में कुंडल हाथों में भाला,
मस्तक सिंदूरी गणराजा आज मेरे सत्संग में आ जाना,
विनती सुनो गणराजा आज मेरे सत्संग में आ जाना॥

देवों में इनसे बड़ा ना कोई दूजा,
सबसे पहले होती है इनकी पूजा,
बुद्धि के राजा गणराजा आज मेरे कीर्तन में आ जाना,
सत्संग में आना मेरे कीर्तन में आना,
विनती सुनो गणराजा आज मेरे सत्संग में आ जाना…..

Comments

संबंधित लेख

आगामी उपवास और त्यौहार

महेश नवमी

शनिवार, 15 जून 2024

महेश नवमी
गंगा दशहरा

रविवार, 16 जून 2024

गंगा दशहरा
गायत्री जयंती

सोमवार, 17 जून 2024

गायत्री जयंती
निर्जला एकादशी

मंगलवार, 18 जून 2024

निर्जला एकादशी
ज्येष्ठ पूर्णिमा

शनिवार, 22 जून 2024

ज्येष्ठ पूर्णिमा
संत कबीर दास जयंती

शनिवार, 22 जून 2024

संत कबीर दास जयंती

संग्रह