रिद्धि सिद्धि के तुम हो पति,
लाज रखना मेरे गणपति,
रिद्धि सिद्धि के तुम हो पति,
लाज रखना मेरे गणपति,

ज्ञान का तुम तो सागर हो,
थोड़ा ज्ञान हमें दीजिए,
ज्ञान का तुम तो सागर हो,
थोड़ा ज्ञान हमें दीजिए,
रिद्धि सिद्धि के तुम हो पति,
लाज रखना मेरे गणपति,

अन्न धन के तुम देने वाले,
थोड़ी माया हमें दीजिए,
अन्न धन के तुम देने वाले,
थोड़ी माया हमें दीजिए,
रिद्धि सिद्धि के तुम हो पति,
लाज रखना मेरे गणपति,

Comments

संबंधित लेख

आगामी उपवास और त्यौहार

संकष्टी चतुर्थी

मंगलवार, 25 जून 2024

संकष्टी चतुर्थी
योगिनी एकादशी

मंगलवार, 02 जुलाई 2024

योगिनी एकादशी
मासिक शिवरात्रि

गुरूवार, 04 जुलाई 2024

मासिक शिवरात्रि
जगन्नाथ रथ यात्रा

रविवार, 07 जुलाई 2024

जगन्नाथ रथ यात्रा
गौरी व्रत

गुरूवार, 11 जुलाई 2024

गौरी व्रत
देवशयनी एकादशी

बुधवार, 17 जुलाई 2024

देवशयनी एकादशी

संग्रह