तेरी जय होवे हे गोरी के लाला,
दीन मेरी दूर करो हे गोरी के लाला…..

शुभ कारज में तुमहे जो मनाता,
काम नीर विघन पूरा हो जाता,
अगर देव तुम मुशक वाहन,
वीगन हरो दुःख दूर करो,
हे गोरी के लाला…..

रिधि सीधी के तुम ही हो दाता,
जो ध्यावे वांचित फल पाता,
इक दंत लम्बोदर गजानन विघ्न हरो दुःख दूर करो,
हे गोरी के लाला….

सुर नर मुनि तेरो करे वंदन,
ध्वज वदन मनोहर गोरी सूत नंदन,
दीनो के तुम दीं दयाला,
विघन हरो दुःख दूर करो,
हे गोरी के लाला….

Comments

संबंधित लेख

आगामी उपवास और त्यौहार

निर्जला एकादशी

मंगलवार, 18 जून 2024

निर्जला एकादशी
ज्येष्ठ पूर्णिमा

शनिवार, 22 जून 2024

ज्येष्ठ पूर्णिमा
संत कबीर दास जयंती

शनिवार, 22 जून 2024

संत कबीर दास जयंती
संकष्टी चतुर्थी

मंगलवार, 25 जून 2024

संकष्टी चतुर्थी
योगिनी एकादशी

मंगलवार, 02 जुलाई 2024

योगिनी एकादशी
मासिक शिवरात्रि

गुरूवार, 04 जुलाई 2024

मासिक शिवरात्रि

संग्रह