चिकनी मिट्टी से बनाये भोलेनाथ चढ़ाऊँ लोटा जल भर के……

पहना वचन माँगा माँ सीता ने,
मुझे मिली कौशल्या जैसी सास ससुर राजा दशरथ से,
चिकनी मिट्टी से बनाये भोलेनाथ चढ़ाऊँ लोटा जल भर के……

दूसरा वचन माँगा माँ सिया ने,
मुझे मिले भोले जैसे जेठ जेठानी गौरा मैया सी,
चिकनी मिट्टी से बनाये भोलेनाथ चढ़ाऊँ लोटा जल भर के…..

तीसरा वचन माँगा माँ सीता ने,
मुझे मिले पति श्री राम देवर लक्ष्मण जैसे,
चिकनी मिट्टी से बनाये भोलेनाथ चढ़ाऊँ लोटा जल भर के…..

चौथा वचन माँगा माँ सीता ने,
मुझे मिले भगत हनुमान पुत्र अंजनी लाल जैसे,
चिकनी मिट्टी से बनाये भोलेनाथ चढ़ाऊँ लोटा जल भर के

Comments

संबंधित लेख

आगामी उपवास और त्यौहार

ज्येष्ठ पूर्णिमा

शनिवार, 22 जून 2024

ज्येष्ठ पूर्णिमा
संत कबीर दास जयंती

शनिवार, 22 जून 2024

संत कबीर दास जयंती
संकष्टी चतुर्थी

मंगलवार, 25 जून 2024

संकष्टी चतुर्थी
योगिनी एकादशी

मंगलवार, 02 जुलाई 2024

योगिनी एकादशी
मासिक शिवरात्रि

गुरूवार, 04 जुलाई 2024

मासिक शिवरात्रि
जगन्नाथ रथ यात्रा

रविवार, 07 जुलाई 2024

जगन्नाथ रथ यात्रा

संग्रह