तर्ज – थोड़ा सा प्यार हुआ है

आसरा एक तेरा,
एक तेरा सहारा,
सुनले फरियाद मेरी,
आ मुझे दे किनारा,
आसरा एक तेरा,
एक तेरा सहारा…..

जख्मी जग ने किया है,
घाव किसको दिखाऊ,
कोई अपना नही है,
हाल किसको सुनाऊ,
एक तुझपे ही बाबा,
जोर चलता है मेरा,
आसरा एक तेरा,
एक तेरा सहारा…..

आंधिया चल रही है,
रात भी है तूफानी,
बड़ा गहरा भंवर है,
और कश्ती पुरानी,
आज मजबूर होके,
मेने तुझको पुकारा,
आसरा एक तेरा,
एक तेरा सहारा……

दर्द दिल में भरा है,
हर्ष तू बाट लेना,
भेंट ये अवगुणों की,
आज स्वीकार लेना,
मिट करके बुराई,
तूने कितनो को तारा,
आसरा एक तेरा,
एक तेरा सहारा……

Comments

संबंधित लेख

आगामी उपवास और त्यौहार

नारद जयंती

शुक्रवार, 24 मई 2024

नारद जयंती
संकष्टी चतुर्थी

रविवार, 26 मई 2024

संकष्टी चतुर्थी
अपरा एकादशी

रविवार, 02 जून 2024

अपरा एकादशी
मासिक शिवरात्रि

मंगलवार, 04 जून 2024

मासिक शिवरात्रि
प्रदोष व्रत

मंगलवार, 04 जून 2024

प्रदोष व्रत
शनि जयंती

गुरूवार, 06 जून 2024

शनि जयंती

संग्रह