लाल चुनरिया ओढ़ ली मेरे बांके सांवरिया बांके सांवरिया मेरे,
बांके सांवरिया, मेरे बांके सांवरिया…..

बांके बिहारी मुझे ऐसा भाया, भूल गई क्या अपना पराया,
दिल की दिल से जोड़ली मेरे बांके सांवरिया,
लाल चुनरिया ओढ़ ली मेरे बांके सांवरिया….

मुरली की जो तान सुनाई, मन में बस गए कृष्ण कन्हाई,
लोक लाज सब छोड़ दी मेरे बांके सांवरिया,
लाल चुनरिया ओढ़ ली मेरे बांके सांवरिया….

तेरी यमुना से जल भर लो, मन की बात मैं तुमसे कर लूं,
बांध लिया गठजोड़ ली मेरे बांके सांवरिया,
लाल चुनरिया ओढ़ ली मेरे बांके सांवरिया…..

Comments

संबंधित लेख

आगामी उपवास और त्यौहार

राम नवमी

बुधवार, 17 अप्रैल 2024

राम नवमी
कामदा एकादशी

शुक्रवार, 19 अप्रैल 2024

कामदा एकादशी
महावीर जन्म कल्याणक

रविवार, 21 अप्रैल 2024

महावीर जन्म कल्याणक
हनुमान जयंती

मंगलवार, 23 अप्रैल 2024

हनुमान जयंती
चैत्र पूर्णिमा

मंगलवार, 23 अप्रैल 2024

चैत्र पूर्णिमा
संकष्टी चतुर्थी

शनिवार, 27 अप्रैल 2024

संकष्टी चतुर्थी

संग्रह