तर्ज – दिल के अरमा आंसुओ में

सांवरे से दिल लगा कर देखले,
हाले दिल अपना सुनाकर देखले……

ज़िन्दगी तेरी सफल हो जाएगी,
हर तरफ खुशिया ही खुशिया छाएगी,
श्याम की ज्योति जगा कर देख ले,
हाले दिल अपना सुनाकर देखले…..

दिल किसी का ना यहाँ टुटा कभी,
सांवरे का साथ ना छूटा कभी,
हर तरफ नज़रे घूमा कर देख ले,
हाले दिल अपना सुनाकर देखले……

संजय मित्तल

याद जब तुझको सताए श्याम की,
देखोगे झलकी मेरे घनश्याम की,
याद में आंसू बहाकर देख ले,
हाले दिल अपना सुनाकर देखले……

प्रेम से जब भी बुलाओ आएगा,
बिन्नू कहता श्याम ना रुक पायेगा,
सच्चे दिल से तू बुलाकर देखले,
हाले दिल अपना सुनाकर देखले……

Comments

संबंधित लेख

आगामी उपवास और त्यौहार

महावीर जन्म कल्याणक

रविवार, 21 अप्रैल 2024

महावीर जन्म कल्याणक
हनुमान जयंती

मंगलवार, 23 अप्रैल 2024

हनुमान जयंती
चैत्र पूर्णिमा

मंगलवार, 23 अप्रैल 2024

चैत्र पूर्णिमा
संकष्टी चतुर्थी

शनिवार, 27 अप्रैल 2024

संकष्टी चतुर्थी
वरुथिनी एकादशी

शनिवार, 04 मई 2024

वरुथिनी एकादशी
प्रदोष व्रत

रविवार, 05 मई 2024

प्रदोष व्रत

संग्रह