म्हासु आँख मिचोली खेले रे,
श्याम धणी अपने भक्ता ने खूब टटोले रे……

कठिन परीक्षा लेवे लेकिन छोड़े ना ही कलाई,
हो जब पानी सिर के ऊपर श्याम करे सुनवाई,
नैया खावे भले हिचकोले रे,
श्याम धणी अपने भक्ता ने खूब टटोले रे,
म्हासु आँख मिचोली………..

जद भी कोई पड़े मुसीबत आंख्यां भर भर आवे,
पर आंसू ना गिरने देवे पल में हाथ बढ़ावे,
मैं हूँ चिंता ना कर बोले रे,
श्याम धणी अपने भक्ता ने खूब टटोले रे,
म्हासु आँख मिचोली………..

यो जीवन है जी जीवन में सुख दुःख आवे जावे,
मौज में काटो जीवन शिवम् श्याम धणी सिखलावे,
म्हारी आंख्या पग पग होले रे,
श्याम धणी अपने भक्ता ने खूब टटोले रे,
म्हासु आँख मिचोली………..

Comments

संबंधित लेख

आगामी उपवास और त्यौहार

ज्येष्ठ पूर्णिमा

शनिवार, 22 जून 2024

ज्येष्ठ पूर्णिमा
संत कबीर दास जयंती

शनिवार, 22 जून 2024

संत कबीर दास जयंती
संकष्टी चतुर्थी

मंगलवार, 25 जून 2024

संकष्टी चतुर्थी
योगिनी एकादशी

मंगलवार, 02 जुलाई 2024

योगिनी एकादशी
मासिक शिवरात्रि

गुरूवार, 04 जुलाई 2024

मासिक शिवरात्रि
जगन्नाथ रथ यात्रा

रविवार, 07 जुलाई 2024

जगन्नाथ रथ यात्रा

संग्रह