तर्ज – छोड़ेंगे ना हम तेरा साथ

छोड़ेंगे ना हम तेरा द्वार,
ओ बाबा मरते दम तक……

( चाहे छुट जाये ज़माना,
या माल-ओ-जर छूटे,
ये महल और अटारी,
या मेरा घर छूटे,
इसीलिए तो कहता है लख्खा,
श्याम बाबा,
सब जगत छूटे,
पर आपका ना दर छूटे || )

छोड़ेंगे ना हम तेरा द्वार,
ओ बाबा मरते दम तक,
मरते दम नहीं,
अगले जनम तक,
अगले जनम नहीं,
सात जनम तक,
सात जनम नहीं,
जनम जनम तक,
छोड़ेगे ना हम तेरा द्वार,
ओ बाबा मरते दम तक……

निर्धन को धनवान बनाए,
ऐसी है तेरी माया,
ओ बाबा ऐसी है तेरी माया,
भेद तेरी शक्ति का जग में,
कोई समझ ना पाया,
ओ बाबा कोई समझ ना पाया,
दुःख के अँधेरे दूर भगाए,
आस का दीपक मन में जलाए,
नाम जपे तेरा सांस है जबतक,
छोड़ेगे ना हम तेरा द्वार,
ओ बाबा मरते दम तक…….

खाटु में प्रभु आप विराजे,
सब पर हुकुम चलाए,
ओ बाबा सब पर हुकुम चलाए,
भक्तो की लाज बचाने बाबा,
पलभर में आ जाए,
ओ बाबा पलभर में आ जाए,
निर्बल को तुम देते सहारा,
सबसे है प्यारा श्याम हमारा,
इस धरती से उस अम्बर तक,
छोड़ेगे ना हम तेरा द्वार,
ओ बाबा मरते दम तक…….

महाभारत में कृष्ण को आपने,
शीश का दान दिया है,
ओ बाबा शीश का दान दिया है,
खुश होकर के आपको कृष्ण ने,
ये वरदान दिया है,
ओ बाबा ये वरदान दिया है,
निल गगन के चाँद और तारे,
रवि की किरणे आरती उतारे,
पूजा हो तेरी दुनिया है जबतक,
छोड़ेगे ना हम तेरा द्वार,
ओ बाबा मरते दम तक……..

छोड़ेगे ना हम तेरा द्वार,
ओ बाबा मरते दम तक,
मरते दम नहीं,
अगले जनम तक,
अगले जनम नहीं,
सात जनम तक,
सात जनम नहीं,
जनम जनम तक,
छोड़ेगे ना हम तेरा द्वार,
ओ बाबा मरते दम तक……..

Comments

संबंधित लेख

आगामी उपवास और त्यौहार

राम नवमी

बुधवार, 17 अप्रैल 2024

राम नवमी
कामदा एकादशी

शुक्रवार, 19 अप्रैल 2024

कामदा एकादशी
महावीर जन्म कल्याणक

रविवार, 21 अप्रैल 2024

महावीर जन्म कल्याणक
हनुमान जयंती

मंगलवार, 23 अप्रैल 2024

हनुमान जयंती
चैत्र पूर्णिमा

मंगलवार, 23 अप्रैल 2024

चैत्र पूर्णिमा
संकष्टी चतुर्थी

शनिवार, 27 अप्रैल 2024

संकष्टी चतुर्थी

संग्रह