( शबरी जोहे वाट राम की, शबरी जोहे वाट, xll
*आएँगे मेरे द्वार राम जी, आएँगे मेरे द्वार,
शबरी जोहे वाट राम की, शबरी जोहे वाट, xll )

मेरी, झोंपड़ी के भाग, आज खुल जाएँगे,
राम आएँगे ll
राम, आएँगे आएँगे, राम आएँगे ll
मेरी, झोंपड़ी के भाग,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,
^
राम आएँगे तो, अँगना सजाऊँगी l
दीप जलाके, दिवाली मैं मनाऊँगी ll
मेरे जन्मो के, सारे पाप, मिट जाएँगे,
राम आएँगे,,,
मेरी, झोंपड़ी के भाग,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,
^
राम झूलेंगे तो, पालना झुलाऊँगी l
मीठे मीठे मैं तो, भजन सुनाऊँगी ll
मेरी जिंदगी के, सारे दुःख, मिट जाएँगे,
राम आएँगे,,,
मेरी, झोंपड़ी के, भाग,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,
^
मैं तो रूचि रूचि, भोग लगाऊँगी l
मीठे मीठे बेर, प्रभु को खिलाऊँगी
गुरु कृपा से, भाग मेरे, खुल जाएँगे,
राम आएँगे,,,
मेरी, झोंपड़ी के, भाग,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,
^
मेरा जनम, सफल हो जाएगा l
तन झूमेगा और, मन गीत गाएगा ll
संग, सीता जी को, प्रभु श्री, राम लाएँगे,
राम आएँगे,,,
मेरी, झोंपड़ी के, भाग,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,

Comments

संबंधित लेख

आगामी उपवास और त्यौहार

मोहिनी एकादशी

रविवार, 19 मई 2024

मोहिनी एकादशी
प्रदोष व्रत

रविवार, 19 मई 2024

प्रदोष व्रत
प्रदोष व्रत

सोमवार, 20 मई 2024

प्रदोष व्रत
नृसिंह जयंती

मंगलवार, 21 मई 2024

नृसिंह जयंती
वैशाखी पूर्णिमा

गुरूवार, 23 मई 2024

वैशाखी पूर्णिमा
बुद्ध पूर्णिमा

गुरूवार, 23 मई 2024

बुद्ध पूर्णिमा

संग्रह