ऐसी लागी लगन है तेरे नाम की,
बाबा लागी लगन है तेरे नाम की,
कोई पागल बुलाए तो मैं क्या कारू,
ऐसी लागी लगन है तेरे नाम की,
बाबा लागी लगन है तेरे नाम की….

तेरे चेहरे का तेज शंकर जी निराला है,
शीश के चांद में तेरे नूर का उजाला है,
तेरी जाटो से बहती जो गंगा की धारा है,
उसी के पवन जल ने सारे जग को तारा है,
जबसे बाबा मेरे दिल को तू भा गया,
कोई मुझको न भये तो मैं कारू,
ऐसी लागी लगन है तेरे नाम की,
कोई पागल बुलाए तो मुझे क्या कारू,
बाबा लागी लगन है तेरे नाम की…….

तेरी जटाओं का छोटा सा में एक बाल हूं,
साथ तेरे होने भोलेनाथ बेमिसाल हूं,
हाथ महाकाल तेरा थाम लिया दर कैसा,
तेरा ही भक्त तेरा चेला तेरा लाल हूं,
देखकर तुझको मुझको हाँ चैन आ गया,
कोई बेचन रहता है तो क्या कारू,
ऐसी लागी लगन है तेरे नाम की,
बाबा लागी लगन है तेरे नाम की,
बाबा लागी लगन है तेरे नाम की,
कोई पागल बुलाए तो मैं क्या कारू,
बाबा लागी लगन है तेरे नाम की…….

Comments

संबंधित लेख

आगामी उपवास और त्यौहार

राम नवमी

बुधवार, 17 अप्रैल 2024

राम नवमी
कामदा एकादशी

शुक्रवार, 19 अप्रैल 2024

कामदा एकादशी
महावीर जन्म कल्याणक

रविवार, 21 अप्रैल 2024

महावीर जन्म कल्याणक
हनुमान जयंती

मंगलवार, 23 अप्रैल 2024

हनुमान जयंती
चैत्र पूर्णिमा

मंगलवार, 23 अप्रैल 2024

चैत्र पूर्णिमा
संकष्टी चतुर्थी

शनिवार, 27 अप्रैल 2024

संकष्टी चतुर्थी

संग्रह