पी गए पी गए भोलेनाथ देखो सारी भंगिया,
सारी भंगिया पी गए सारी भंगिया,
पी गए पी गए भोलेनाथ देखो सारी भंगिया……..

गौरा पीसे दिन और रात भंगिया पी गए भोलेनाथ,
बजा के डमरू नाच रहे हैं झूम रहा कैलाश,
पी गए पी गए भोलेनाथ देखो सारी भंगिया……..

कोई बजावे ढोल तंदूरा कोई बजाए झांझ मंजीरा,
सारे नशे में चूर भांग के नाचे दे दे ताल,
पी गए पी गए भोलेनाथ देखो सारी भंगिया……..

माथे का चंदा मुस्काए गंगा जमुना ताली बजाए,
शोभा इनकी वर्णी ना जाए, जोगी करे कमाल,
पी गए पी गए भोलेनाथ देखो सारी भंगिया……..

ब्रह्मा नाचे विष्णु नाचे नाचे भोलेनाथ,
वीणा बजा के नारद नाचे, नाच रहा कैलाश,
पी गए पी गए भोलेनाथ देखो सारी भंगिया……..

Comments

संबंधित लेख

आगामी उपवास और त्यौहार

महावीर जन्म कल्याणक

रविवार, 21 अप्रैल 2024

महावीर जन्म कल्याणक
हनुमान जयंती

मंगलवार, 23 अप्रैल 2024

हनुमान जयंती
चैत्र पूर्णिमा

मंगलवार, 23 अप्रैल 2024

चैत्र पूर्णिमा
संकष्टी चतुर्थी

शनिवार, 27 अप्रैल 2024

संकष्टी चतुर्थी
वरुथिनी एकादशी

शनिवार, 04 मई 2024

वरुथिनी एकादशी
प्रदोष व्रत

रविवार, 05 मई 2024

प्रदोष व्रत

संग्रह