भोला भंडारी मेरा वह शंकर कैलाशी मेरा,
बिगड़ी किस्मत को बनाता भोला भंडारी मेरा…..

दुनिया की हर एक नजर पर शिव शंकर का राज है,
सूखे फूलों को खिलाता भोला भंडारी मेरा,
बिगड़ी किस्मत को बनाता भोला भंडारी मेरा…..

कालों का भी कॉल जिसको पूजता संसार है,
रोतो को पल में हसाता भोला भंडारी मेरा,
बिगड़ी किस्मत को बनाता भोला भंडारी मेरा…..

हाथ में डमरू माथे पर चंदा जटा में बहती है गंगा,
नंदी पर आसन जमाता भोला भंडारी मेरा,
बिगड़ी किस्मत को बनाता भोला भंडारी मेरा…..

सबको देता महल खजाना डमरु वाला प्यार से,
मेरी किस्मत को चमकाता भोला भंडारी मेरा,
बिगड़ी किस्मत को बनाता भोला भंडारी मेरा…..

Comments

संबंधित लेख

आगामी उपवास और त्यौहार

मोहिनी एकादशी

रविवार, 19 मई 2024

मोहिनी एकादशी
प्रदोष व्रत

रविवार, 19 मई 2024

प्रदोष व्रत
प्रदोष व्रत

सोमवार, 20 मई 2024

प्रदोष व्रत
नृसिंह जयंती

मंगलवार, 21 मई 2024

नृसिंह जयंती
वैशाखी पूर्णिमा

गुरूवार, 23 मई 2024

वैशाखी पूर्णिमा
बुद्ध पूर्णिमा

गुरूवार, 23 मई 2024

बुद्ध पूर्णिमा

संग्रह