डम डम डमरू बाजे नाच रहे गण सारे,
नाच रहे गण सारे नाच रहे गण सारे,
डम डम डमरू बाजे नाच रहे गण सारे…..

महादेव की लीला है न्यारी,
भक्तों पर कृपा है भारी,
जो जपता नमः शिवाय कटे शंकर सारे,
डम डम डमरू बाजे नाच रहे गण सारे…..

जो भोले की पूजा करता,
भोले भंडारी सब की सुनता,
उन्हें मिल जाएं कार्तिक गणेश दूर हो अंधियारे,
डम डम डमरू बाजे नाच रहे गण सारे…..

जो सोमवार का व्रत है करता,
कुंवारी कन्या को मनवांछित फल मिलता,
खुशियां मिले अपार भरे रहे भंडारे,
डम डम डमरू बाजे नाच रहे गण सारे…..

सब मिल बोलो हर हर महादेवा,
जय शिव शंकर जय महादेवा,
होकर मगन मन आज गूंज रहे जयकारे,
डम डम डमरू बाजे नाच रहे गण सारे…..

Comments

संबंधित लेख

आगामी उपवास और त्यौहार

नारद जयंती

शुक्रवार, 24 मई 2024

नारद जयंती
संकष्टी चतुर्थी

रविवार, 26 मई 2024

संकष्टी चतुर्थी
अपरा एकादशी

रविवार, 02 जून 2024

अपरा एकादशी
मासिक शिवरात्रि

मंगलवार, 04 जून 2024

मासिक शिवरात्रि
प्रदोष व्रत

मंगलवार, 04 जून 2024

प्रदोष व्रत
शनि जयंती

गुरूवार, 06 जून 2024

शनि जयंती

संग्रह