दुनिया में मच रयो शोर भोले भंडारी……

कोई कहे त्रिपुरारी, कोई कोई भंडारी,
कोई करे तपस्या घोर भोले भंडारी,
दुनिया में मच रयो शोर भोले भंडारी……

कोई कहे जग का दाता, कोई भाग्य विधाता,
भगतो का है चित चोर, भोले भंडारी,
दुनिया में मच रयो शोर भोले भंडारी……

चंदा मस्तक पे है साजे,
गंगा जटा में विराजे,
ऐसी दाता की सूरत लोर, भोले भंडारी,
दुनिया में मच रयो शोर भोले भंडारी……

Comments

संबंधित लेख

आगामी उपवास और त्यौहार

नारद जयंती

शुक्रवार, 24 मई 2024

नारद जयंती
संकष्टी चतुर्थी

रविवार, 26 मई 2024

संकष्टी चतुर्थी
अपरा एकादशी

रविवार, 02 जून 2024

अपरा एकादशी
मासिक शिवरात्रि

मंगलवार, 04 जून 2024

मासिक शिवरात्रि
प्रदोष व्रत

मंगलवार, 04 जून 2024

प्रदोष व्रत
शनि जयंती

गुरूवार, 06 जून 2024

शनि जयंती

संग्रह