तर्ज – कहीं दीप जले कहीं दिल

हरिओम नमः शिवाय,
हरिओम नमः शिवाय,
ॐ नमः शिवाय,
ॐ नमः शिवाय,
हरि ॐ नमः शिवाय,
हरिओम नमः शिवाय…….

मेरी टेर सुनो त्रिपुरारी,
अब तो लो खबर हमारी,
तेरे द्वार पे हम है आये,
तेरे द्वार पे हम है आये,
हरि ॐ नमः शिवाय,
हरि ॐ नमः शिवाय,
ॐ नमः शिवाय,
ॐ नमः शिवाय,
हरि ॐ नमः शिवाय,
हरिओम नमः शिवाय…….

तेरी जटा में गंग बिराजे,
माथे पे चँदा साजे,
और डम डम डमरू बजाये,
और डम डम डमरू बजाये,
हरि ॐ नमः शिवाय,
हरि ॐ नमः शिवाय,
ॐ नमः शिवाय,
ॐ नमः शिवाय,
हरि ॐ नमः शिवाय,
हरिओम नमः शिवाय……

तेरी लीला सबसे नियारी,
जिसे जाने दुनिया सारी,
तेरी महिमा वर्णी ना जाये,
तेरी महिमा वर्णी ना जाये,
हरि ॐ नमः शिवाय,
हरि ॐ नमः शिवाय,
ॐ नमः शिवाय,
ॐ नमः शिवाय,
हरि ॐ नमः शिवाय,
हरिओम नमः शिवाय…….

बाबा अंग विभूति रमाये,
नित भांग धतूरा खाये,
श्री राम का ध्यान लगाये,
श्री राम का ध्यान लगाये,
हरि ॐ नमः शिवाय,
हरि ॐ नमः शिवाय,
ॐ नमः शिवाय,
ॐ नमः शिवाय,
हरि ॐ नमः शिवाय,
हरिओम नमः शिवाय…..

ये ‘पवन’ तेरा गुण गाये,
तेरे चरणों में शीश नवाये,
गुणगान करे चित लाये,
गुणगान करे चित लाये,
हरि ॐ नमः शिवाय,
हरि ॐ नमः शिवाय,
ॐ नमः शिवाय,
ॐ नमः शिवाय,
हरिओम नमः शिवाय,
हरिओम नमः शिवाय…….

Comments

संबंधित लेख

आगामी उपवास और त्यौहार

मोहिनी एकादशी

रविवार, 19 मई 2024

मोहिनी एकादशी
प्रदोष व्रत

रविवार, 19 मई 2024

प्रदोष व्रत
प्रदोष व्रत

सोमवार, 20 मई 2024

प्रदोष व्रत
नृसिंह जयंती

मंगलवार, 21 मई 2024

नृसिंह जयंती
वैशाखी पूर्णिमा

गुरूवार, 23 मई 2024

वैशाखी पूर्णिमा
बुद्ध पूर्णिमा

गुरूवार, 23 मई 2024

बुद्ध पूर्णिमा

संग्रह