सावन का महीना बहना घटा उठी,
मेरी बहना मगन हुए हैं भोलेनाथ आई है शिवरात्रि…..

रिमझिम रिमझिम बुंदिया पड़ी,
मेरी बहना पर्वत पर झूमे भोलेनाथ आई है शिवरात्रि…..

जल का तो लोटा ले लो हाथ में,
मेरी बहना मंदिर में भोले को नवाओ आई है शिवरात्रि…..

भांग धतूरा और बेल पाती,
मेरी बहना भोले को देओ रे चढ़ाए आई है शिवरात्रि……

सास ननंद ले लो साथ में,
मेरी बहना भोले के भजन सुनाओ आई है शिवरात्रि……

गौरा मैया भोले के साथ में,
मेरी बहना डमरू बजे है कैलाश में आई है शिवरात्रि….

Comments

संबंधित लेख

आगामी उपवास और त्यौहार

नारद जयंती

शुक्रवार, 24 मई 2024

नारद जयंती
संकष्टी चतुर्थी

रविवार, 26 मई 2024

संकष्टी चतुर्थी
अपरा एकादशी

रविवार, 02 जून 2024

अपरा एकादशी
मासिक शिवरात्रि

मंगलवार, 04 जून 2024

मासिक शिवरात्रि
प्रदोष व्रत

मंगलवार, 04 जून 2024

प्रदोष व्रत
शनि जयंती

गुरूवार, 06 जून 2024

शनि जयंती

संग्रह