मोहे लागी रे लगन महाकाल की लगन
तुम्हारे नाम से किस्मत मेरी सजा लू मैं-2
तुम्हारे चरणों को ही अपना घर बना लू मैं,
मुझे कर गई मगन-2 महाकाल की लगन।

1:– मेरी लगन सहारा बन मुझे संभालेगी ,
मेरी बलाए मेरे दुख लगन ही टालेगी ,
मेरी लगन मेरी भक्ति का ये सिला देगी-2
मेरे महाकाल से मुझको भी ये मिला देगी ,
दे गई दीवानापन -2 महाकाल की लगन।
मोहे लागी रे……

2 :– आता हूं दर तेरे पल भर के लिए ,
थोड़ा अपने लिए थोड़ा घर के लिए ,
अपनी किस्मत पर तेरी नजर के लिए ,
सामने तेरे दुनिया को भूल जाऊ में -2
तेरा हो जाता हु उम्र भर के लिए ,
बदल गया ये जीवन-2 महाकाल की लगन।
मोहे लागी रे……

3:– मैं धूल बनके तेरी राह में बिखर जाऊं ,
मैं फूल बनके तेरी राह में बिखर जाऊं,
रहू मैं पास तेरे भक्ति ऐसी कर जाऊं-2
तेरे चरणों से लगके भोले मैं भी तर जाऊं,
भक्तिमय करे है मन-2 महाकाल की लगन ।
मोहे लागी रे……।

मोहे लागी रे लगन महाकाल की लगन …..।

Comments

संबंधित लेख

आगामी उपवास और त्यौहार

राम नवमी

बुधवार, 17 अप्रैल 2024

राम नवमी
कामदा एकादशी

शुक्रवार, 19 अप्रैल 2024

कामदा एकादशी
महावीर जन्म कल्याणक

रविवार, 21 अप्रैल 2024

महावीर जन्म कल्याणक
हनुमान जयंती

मंगलवार, 23 अप्रैल 2024

हनुमान जयंती
चैत्र पूर्णिमा

मंगलवार, 23 अप्रैल 2024

चैत्र पूर्णिमा
संकष्टी चतुर्थी

शनिवार, 27 अप्रैल 2024

संकष्टी चतुर्थी

संग्रह