ये ले सूजी ये ले मीठा लोटा पानी का,
हलवे का प्रसाद बनाया मैया रानी का……..

हवले चने का भोग बनाया,
सबसे पहले माँ को जिमाया,
मैं चरणों का दास मेरी मैया रानी का,
हलवे का प्रसाद बनाया मैया रानी का……..

मैया बिन कुछ नही मेरे धोरे,
मैया रहवे सदा मेरे ओरे धोरे,
मैं सू सच्चा सेवक उस लाड लडाणी का,
हलवे का प्रसाद बनाया मैया रानी का……..

मैया रानी मेरे घर आई,
देसी घी का करू कढाई,
सुन लुंगी बोल उसकी मीठी वाणी का,
हलवे का प्रसाद बनाया मैया रानी का……..

भगत मण्डली भजन में आवे,
गा गा के नै माँ नै रिझावे,
तीन लोक ने लिया सहारा मैया रानी का,
हलवे का प्रसाद बनाया मैया रानी का……..

Comments

संबंधित लेख

आगामी उपवास और त्यौहार

राम नवमी

बुधवार, 17 अप्रैल 2024

राम नवमी
कामदा एकादशी

शुक्रवार, 19 अप्रैल 2024

कामदा एकादशी
महावीर जन्म कल्याणक

रविवार, 21 अप्रैल 2024

महावीर जन्म कल्याणक
हनुमान जयंती

मंगलवार, 23 अप्रैल 2024

हनुमान जयंती
चैत्र पूर्णिमा

मंगलवार, 23 अप्रैल 2024

चैत्र पूर्णिमा
संकष्टी चतुर्थी

शनिवार, 27 अप्रैल 2024

संकष्टी चतुर्थी

संग्रह