गणपती करदो बेड़ा पार,
आज हम तुम्हे मनाते है,
तुम्हे मनाते है, तुम्हे मनाते है,
गणपती करदो बेड़ा पार,
आज हम तुम्हे मनाते है।।

पुष्प माला गल साजे है,
ओ सिर पे मुकुट बिराजे है,
करने तुम्हारा अभिनंदन,
हम दर पे आते है,
गणपती करदो बेड़ा पार,
आज हम तुम्हे मनाते है।।

सभी दुःख संकट भागे है,
एक दन्त देवा साजे है,
दिल से करे तेरा वंदन देवा,
भोग चढ़ाते है,
गणपती करदो बेड़ा पार,
आज हम तुम्हे मनाते है।।

भक्त सभी तुम्हे पुकारे है,
ये सबकी नैनो के तारे है,
विघ्न निवारण मंगल कारण,
देवा आते है,
गणपती करदो बेड़ा पार,
आज हम तुम्हे मनाते है।।

Comments

संबंधित लेख

आगामी उपवास और त्यौहार

संकष्टी चतुर्थी

मंगलवार, 25 जून 2024

संकष्टी चतुर्थी
योगिनी एकादशी

मंगलवार, 02 जुलाई 2024

योगिनी एकादशी
मासिक शिवरात्रि

गुरूवार, 04 जुलाई 2024

मासिक शिवरात्रि
जगन्नाथ रथ यात्रा

रविवार, 07 जुलाई 2024

जगन्नाथ रथ यात्रा
गौरी व्रत

गुरूवार, 11 जुलाई 2024

गौरी व्रत
देवशयनी एकादशी

बुधवार, 17 जुलाई 2024

देवशयनी एकादशी

संग्रह