ओ माँ मेरी पत, रखियो सदा लाटावालिए,
दुखिया को, पापन को, दे दे सहारा,
तेरा मंदिर है न्यारा,
मुझे भी दे उजियारा,
मिटे मन का अंधियारा,
ओ माँ मेरी ओ माँ मेरी….

मोह माया के तोड़ के बंधन,
तेरे द्वारे आ गई जोगन,
कोई नही मेरा, तेरे सिवा लाटावालीये,
ओ कोई नही मेरा…
कोई नही मेरा, तेरे सिवा लाटावालीये,
मे दुखियारी शरण तिहारी,
झोली है खाली,
में आयी बन के सवाली,
ओ माता लाटावाली,
ओ उचे मंदिरावली,
ओ मा मेरी पत रखियो सदा लाटावालीये…..

सूनी सूनी गोद भरे तू,
माता सबके कष्ट हरे तू,
कोई नही मेरा, तेरे सिवा लाटावालीये,
ओ कोई नही मेरा…
कोई नही मेरा, तेरे सिवा लाटावालीये,
पूजा के श्रद्धा के,
जो फूल लाए,
वो जो माँगे सो पाए,
तू बिगड़ी बात बनाए,
तू सब के भाग्य जगाए,
ओ मा मेरी पत रखियो सदा लाटावालीये……

माता तु है शक्ति शाली,
जग मे तेरी ज्योत निराली,
कोई नही मेरा, तेरे सिवा लाटावालीये,
ओ कोई नही मेरा…
कोई नही मेरा, तेरे सिवा लाटावालीये,
युग युग से भक्तो के,
दुखड़े निवारे,
शहंशाह आए द्वारे
और जैसे अटक नज़ारे
तेरी शक्ति से हारे
ओ माँ मेरी पत, राखियो सदा लाटवालिए,
दुखिया को, पापन को, दे दे सहारा,
तू बिगड़ी बात बनाए,
तू सब के भाग्य जगाए,
ओ माता लाटावाली,
ओ उचे मंदिरावाली,
ओ माता लाटावाली
ओ मा मेरी पत रखियो सदा लाटावालीये……..

माँ मेरी पत, रखियो सदा लाटावालिए,
दुखिया को, पापन को, दे दे सहारा,
तेरा मंदिर है न्यारा,
मुझे भी दे उजियारा,
मिटे मन का अंधियारा,
ओ माँ मेरी, ओ माँ मेरी ||

Comments

संबंधित लेख

आगामी उपवास और त्यौहार

राम नवमी

बुधवार, 17 अप्रैल 2024

राम नवमी
कामदा एकादशी

शुक्रवार, 19 अप्रैल 2024

कामदा एकादशी
महावीर जन्म कल्याणक

रविवार, 21 अप्रैल 2024

महावीर जन्म कल्याणक
हनुमान जयंती

मंगलवार, 23 अप्रैल 2024

हनुमान जयंती
चैत्र पूर्णिमा

मंगलवार, 23 अप्रैल 2024

चैत्र पूर्णिमा
संकष्टी चतुर्थी

शनिवार, 27 अप्रैल 2024

संकष्टी चतुर्थी

संग्रह