मैं तो हरा हरा अंगना लिपाऊगी,
गौरा मैया तेरे लाल को मनाऊंगी….

कोई लाया है चौकी कोई लाया है सिंहासन,
मैं तो मोतियन चौक पुराऊंगी,
गौरा मैया तेरे लाल को मनाऊंगी…..

कोई लाया कलश‌ कोई दूधों के लोटा,
मैं तो माटी के कलश भराऊंगी,
गौरा मैया तेरे लाल को मनाऊंगी…..

कोई लाया है मुकुट कोई मोतियन की माला,
मैं तो हरी हरी दुर्वा चढ़ाऊगी,
गौरा मैया तेरे लाल को मनाऊंगी….

कोई लाया है मेवा कोई लाया है पेढ़ा,
मैं तो लड्डू का भोग लगाऊंगी,
गौरा मैया तेरे लाल को मनाऊंगी….

कोई लाया है ढोलक कोई लाया है मजीरा,
ताली बजा के भजन सुनाऊगी,
गौरा मैया तेरे लाल को मनाऊंगी….

Comments

संबंधित लेख

आगामी उपवास और त्यौहार

गायत्री जयंती

सोमवार, 17 जून 2024

गायत्री जयंती
निर्जला एकादशी

मंगलवार, 18 जून 2024

निर्जला एकादशी
ज्येष्ठ पूर्णिमा

शनिवार, 22 जून 2024

ज्येष्ठ पूर्णिमा
संत कबीर दास जयंती

शनिवार, 22 जून 2024

संत कबीर दास जयंती
संकष्टी चतुर्थी

मंगलवार, 25 जून 2024

संकष्टी चतुर्थी
योगिनी एकादशी

मंगलवार, 02 जुलाई 2024

योगिनी एकादशी

संग्रह