जय जय गणपति नमह
गोरी के लाडले तेरी माया बड़ी अपार,
जय जय गणपति नमह

सबसे प्रथम बाबा तेरी होती आई पूजा
तेरे वरगा बाबा कोई देव नही दूजा
मैया के लाडले गोरी के लाडले
तेरी माया बड़ी अपार
मैया के लाडले हमे भव् से कर दो पार
गोरी के लाडले तेरी माया बड़ी अपार,

पान चड़े फूल चड़े और चड़े मेवा लड्डूआ का भोग लगे संत करे सेवा
गोरा के लाडले मैया के लाडले शीश झुकाऊ बार बार
गोरी के लाडले तेरी माया बड़ी अपार,

अंधे को नेत्र देते कोडीन को काया
बाँझन को पुत्र देते निर्धन को माया,
गोरा के लाडले मैया के लाडले
महारा भी रखियो ध्यान

तेरे भगत बुलावे बाबा आजा म्हारे गाव में
उतम छोकर सब भगतो की करे राम राम है
माता के लाडले गोरी के लाडले विनती सुन लो
गोरी के लाडले तेरी माया बड़ी अपार,

Comments

संबंधित लेख

आगामी उपवास और त्यौहार

संकष्टी चतुर्थी

मंगलवार, 25 जून 2024

संकष्टी चतुर्थी
योगिनी एकादशी

मंगलवार, 02 जुलाई 2024

योगिनी एकादशी
मासिक शिवरात्रि

गुरूवार, 04 जुलाई 2024

मासिक शिवरात्रि
जगन्नाथ रथ यात्रा

रविवार, 07 जुलाई 2024

जगन्नाथ रथ यात्रा
गौरी व्रत

गुरूवार, 11 जुलाई 2024

गौरी व्रत
देवशयनी एकादशी

बुधवार, 17 जुलाई 2024

देवशयनी एकादशी

संग्रह