गणपत गोरी लाल तेरी हो रही जय जय कार
शिव गोरा के लाल तेरी हो रही जय जय कार
गणपत गोरी लाल तेरी हो रही जय जय कार

हर कोई तेरा मंगल गाऔन्दा मुहो मंगेया फल ओह पाऊंदा,
तेरे दर ते आये सवाली सब ना नु चरना नाल लाउंदा,
सब दी सुनी पुकार तेरी हॉवे जय जय कार
गणपत गोरी लाल तेरी हो रही जय जय कार

सब तो उची तेरी हस्ती तीन लोक विच तेरी शक्ति
रोज चड़े जो कदे न उतरे नाम तेरे दी ऐसी मस्ती
सब जपदे वारो वार तेरी हो रही जय जय कार
गणपत गोरी लाल तेरी हो रही जय जय कार

मन विच वसदी तेरी तस्वीर बदल देयो मेरी तकदीर
कष्ट कलेश मिताउंदे सारे आलम पूरी कहे जसवीर,
दे चरना दा प्यार तेरी हॉवे जय जय कार
गणपत गोरी लाल तेरी हो रही जय जय कार

Comments

संबंधित लेख

आगामी उपवास और त्यौहार

संकष्टी चतुर्थी

मंगलवार, 25 जून 2024

संकष्टी चतुर्थी
योगिनी एकादशी

मंगलवार, 02 जुलाई 2024

योगिनी एकादशी
मासिक शिवरात्रि

गुरूवार, 04 जुलाई 2024

मासिक शिवरात्रि
जगन्नाथ रथ यात्रा

रविवार, 07 जुलाई 2024

जगन्नाथ रथ यात्रा
गौरी व्रत

गुरूवार, 11 जुलाई 2024

गौरी व्रत
देवशयनी एकादशी

बुधवार, 17 जुलाई 2024

देवशयनी एकादशी

संग्रह