जय हो गणपती देवा,
करे हम तेरी सेवा,
तेरी सेवा हो तेरी सेवा,
मोदक चढ़ाऊ और मेवा,
करे हम तेरी सेवा,
जय हो गणपती देवा,
करे हम तेरी सेवा।।

सब देवों के तुम हो लाला,
हाथ में मोदक गले में माला,
देवो के तुम हो देवा,
करे हम तेरी सेवा,
जय हो गणपती देवा,
करे हम तेरी सेवा।।

विघ्न हरता तुम कहलाते,
शिव गौरा के पुत्र कहलाते,
मान बड़ा दो मेरा,
करे हम तेरी सेवा,
जय हो गणपती देवा,
करे हम तेरी सेवा।।

हाथी मस्तक रूप निराला,
सब भक्तों को तुमने संभाला,
प्रेम को देदो मेवा,
करे हम तेरी सेवा,
जय हो गणपती देवा,
करे हम तेरी सेवा।।

Comments

संबंधित लेख

आगामी उपवास और त्यौहार

ज्येष्ठ पूर्णिमा

शनिवार, 22 जून 2024

ज्येष्ठ पूर्णिमा
संत कबीर दास जयंती

शनिवार, 22 जून 2024

संत कबीर दास जयंती
संकष्टी चतुर्थी

मंगलवार, 25 जून 2024

संकष्टी चतुर्थी
योगिनी एकादशी

मंगलवार, 02 जुलाई 2024

योगिनी एकादशी
मासिक शिवरात्रि

गुरूवार, 04 जुलाई 2024

मासिक शिवरात्रि
जगन्नाथ रथ यात्रा

रविवार, 07 जुलाई 2024

जगन्नाथ रथ यात्रा

संग्रह