आओ मेरे शिव गोरा दे लाल,
आओ मेरे गणपति जी महाराज,
आओ मेरे शिव गोरा दे लाल,
सब तो पहला तुम्हे मनाये,
सब तो पहला सुनेहा पाए आप गणपत जी महाराज,
सब के काज स्वारो मेरे गणपत जी महाराज,

चार बुजा गजवंदन तुम हो इक दंत बलशाली तुम हो,
तीन लोक चार दिशा में सब दुनिया के मालक तुम हो,
हूँ ते लडडुआ दा भोग ले आवे लाओ गणपति जी महाराज,
सब के काज स्वारो मेरे गणपत जी महाराज,

सब नू चढ़ गई नाम खुमारी गणपति बोले बाबा दुनिया सारी,
करते है मुसक की है सवारी चरनी लगती है दुनिया सारी,
चारे पासे रंग गुलाल उड़ावे आओ गणपत जी महाराज,
सब के काज स्वारो मेरे गणपत जी महाराज,

ब्रह्मा विष्णु और शिव शंकर आउंदे ने दरबार ते चल के,
संगत नाम दी दीवानी होउ तेरे नाम दी माला जप कर,
हूँ सहानी भी आवाज मारे आओ गणपत जी महाराज,
सब के काज स्वारो मेरे गणपत जी महाराज,

Comments

संबंधित लेख

आगामी उपवास और त्यौहार

मंगला गौरी व्रत

मंगलवार, 23 जुलाई 2024

मंगला गौरी व्रत
संकष्टी चतुर्थी

बुधवार, 24 जुलाई 2024

संकष्टी चतुर्थी
कामिका एकादशी

बुधवार, 31 जुलाई 2024

कामिका एकादशी
मासिक शिवरात्रि

शुक्रवार, 02 अगस्त 2024

मासिक शिवरात्रि
हरियाली तीज

बुधवार, 07 अगस्त 2024

हरियाली तीज
नाग पंचमी

शुक्रवार, 09 अगस्त 2024

नाग पंचमी

संग्रह