मेरे बाबा ज्योत पे आजा,
चाहे आज्या बाबा खड़ा खड़ा,
चाहे आज्या बाबा खड़ा खड़ा……

भक्तां ने ज्योत जगाई,
भक्तां ने ज्योत जगाई,
दर्शन की आस लगाई,
चाहे दर्शन देदे खड़ा खड़ा,
मेरे बाबा ज्योत पे आज्या,
चाहे आज्या बाबा खड़ा खड़ा……

तेरे दर पे दुनिया आवे,
तेरे दर पे दुनिया आवे,
चरणां में शीश झुकावे,
तेरी भक्ती का रंग खुब चढ़ा,
मेरे बाबा ज्योत पे आज्या,
चाहे आज्या बाबा खड़ा खड़ा……

यो संकट मन्नै सतावे,
यो संकट मन्नै सतावे,
मेरी कुछ ना पार बसावे,
यो संकट बैरी आण अड़ा,
मेरे बाबा ज्योत पे आज्या,
चाहे आज्या बाबा खड़ा खड़ा……

‘रमेश नांगलिया’ आया,
‘रमेश नांगलिया’ आया,
इन्ने सच्चा ध्यान लगाया,
यो तेरे चरणां मे आण पड़ा,
मेरे बाबा ज्योत पे आज्या,
चाहे आज्या बाबा खड़ा खड़ा……

Comments

संबंधित लेख

आगामी उपवास और त्यौहार

मोहिनी एकादशी

रविवार, 19 मई 2024

मोहिनी एकादशी
प्रदोष व्रत

रविवार, 19 मई 2024

प्रदोष व्रत
प्रदोष व्रत

सोमवार, 20 मई 2024

प्रदोष व्रत
नृसिंह जयंती

मंगलवार, 21 मई 2024

नृसिंह जयंती
वैशाखी पूर्णिमा

गुरूवार, 23 मई 2024

वैशाखी पूर्णिमा
बुद्ध पूर्णिमा

गुरूवार, 23 मई 2024

बुद्ध पूर्णिमा

संग्रह