मुझे राम से मिला दे रे ओ अंजनी के लाला….

मैं तो गंगाजल ले आई रे ओ अंजनी के लाल,
तेरे चरणों को धुलाऊ रे ओ अंजनी के लाला…..

तेरा मुकट गढाया रे ओ अंजनी के लाला,
हीरा मोती से जड़ाया रे ओ अंजनी के लाला…..

मैं तो केसर रोली लाई रे ओ अंजनी के लाला,
तुझे तिलक लगाऊ रे ओ अंजनी के लाला…..

तुझे माला पहनाऊ रे ओ अंजनी के लाला,
माला फूलों से बनाऊ रे ओ अंजनी के लाला…..

मैं तो कंगन गढाऊ रे ओ अंजनी के लाला,
तेरे हाथों में पहनाऊ रे ओ अंजनी के लाला……

मैं तो चोला लेकर आई रे ओ अंजनी के लाला,
मैं तो आकर तुझे पहनाऊ रे ओ अंजनी के लाला……

मैं तो खीर चूरमा लाई रे ओ अंजनी के लाला,
आकर तुझे भोग लगाऊ रे ओ अंजनी के लाला……

Comments

संबंधित लेख

आगामी उपवास और त्यौहार

वैशाखी पूर्णिमा

गुरूवार, 23 मई 2024

वैशाखी पूर्णिमा
बुद्ध पूर्णिमा

गुरूवार, 23 मई 2024

बुद्ध पूर्णिमा
कूर्म जयंती

गुरूवार, 23 मई 2024

कूर्म जयंती
नारद जयंती

शुक्रवार, 24 मई 2024

नारद जयंती
संकष्टी चतुर्थी

रविवार, 26 मई 2024

संकष्टी चतुर्थी
अपरा एकादशी

रविवार, 02 जून 2024

अपरा एकादशी

संग्रह